भारतीय शास्त्रीय संगीत अलंकार अध्याय 3 | Indian Classical Music In Hindi Lesson 3

भारतीय शास्त्रीय संगीत अलंकार अध्याय 3 में आप सभी का स्वागत है। आज हम आपके लिए लेकर आए हैं 5 नए अलंकार वीडियो के साथ सरगम बुक पर। आशा करते हैं पिछले 2 अध्याय में अपने 10 अलंकारों को अच्छे से याद कर लिया होगा।

तो शुरू करते हैं आज के 5 अलंकार :

 11. सा म, रे प, ग ध, म नि, प सां
सां प, नि म, ध ग, प रे, म सा

12. बारहवां अलंकार है :

 सासा मम, रेरे पप, गग धध, मम निनि, पप सांसां
सांसां पप, निनि मम, धध गग, रेरे पप, मम सासा

13. तेरहवां अलंकार इस प्रकार से है :

 सा प, रे ध, ग नि, म सां
सां म, नि ग, ध रे, प सा

14. चौदवां अलंकार कुछ इस तरह से बजाया जाएगा :

 सासा पप, रेरे धध, गग निनि, मम सांसां
सांसां मम, निनि गग, धध रेरे, पप सासा

15. और आज का आख़री और पन्द्रहवां अलंकार है :

 सा रे ग ग, रे ग म म, ग म प प, म प ध ध, प ध नि नि, ध नि सां सां
सां सां नि ध, नि नि ध प, ध ध प म, प प म ग, म म ग रे, ग ग रे सा

ये थे आज के 5 अलंकार, जिन्हें हमने वीडियो के माध्यम से आपको समझाया। याद रखें इनका अभ्यास शुरुवाती संगीत शिक्षण में बहुत महत्वपूर्ण है, तो इन सभी अलंकारों का नियमित अभ्यास करें। हम कल फिर मिलेंगे 5 नए अलंकार के साथ।

अलंकारों के अध्याय के बारें में यदि आप हमें कोई राय देना चाहते हैं तो हमें मेल करें : titiksha@sargambook.com

पहला अध्याय देखने के लिए यहाँ क्लिक करें
दूसरा अध्याय देखने के लिए यहाँ क्लिक करें