भारतीय शास्त्रीय संगीत अलंकार अध्याय 2 | Indian Classical Music In Hindi Lesson 2

अलंकार के दूसरे अध्याय में आप सभी का स्वागत है। पहले अध्याय में आपने 5 अलंकार सीखे जिन्हें आप यहाँ क्लिक कर के दोबारा देखा सकते हैं। आज दूसरे अध्याय में हम आपके लिए लाए हैं 5 नए अलंकार जो बेसिक शास्त्रीय संगीत सीखने के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। तो शुरू करते हैं आज के 5 नए अलंकार :

प्रस्तुत है भारतीय शास्त्रीय संगीत का छठा अलंकार, जिसे वीडियो के माध्यम से भी समझाया गया है।

6. सासा रेरे सासा,  रेरे गग रेरे, गग मम गग, मम पप मम, पप धध पप, धध निनि धध,  निनि सांसां निनि, सांसां रेरे सांसां
सांसां रेरे सांसां, निनि सांसां निनि, धध निनि धध, पप धध पप, मम पप मम, गग मम गग, रेरे गग रेरे, सासा रेरे सासा

भारतीय शास्त्रीय संगीत का सातवा अलंकार, जिसे वीडियो के माध्यम से समझाया गया है।

7. सारेग, रेगम, गमप, मपध, पधनि, धनिसां
सांनिध, निधप, धपम, पमग, मगरे, गरेसा

भारतीय शास्त्रीय संगीत का आठवा अलंकार, जिसे वीडियो द्वारा भी समझाया गया है।

8. सारेगम, रेगमप, गमपध, मपधनि, पधनिसां
सांनिधप, निधपम, धपमग, पमगरे, मगरेसा

भारतीय शास्त्रीय संगीत का नौवा अलंकार, जिसे वीडियो द्वारा भी समझाया गया है।

9. साग, रेम, गप, मध, पनि, धसां
सांध, निप, धम, पग, मरे, गसा

और आज के आख़री अलंकार यानी भारतीय शास्त्रीय संगीत का दसवा अलंकार, जिसे वीडियो द्वारा भी समझाया गया है।

10. सासा गग, रेरे मम, गग पप, मम धध, पप निनि, धध सांसां
सांसां धध, निनि पप, धध मम, पप गग, मम रेरे, गग सासा

तो इसी के साथ हम ख़त्म करते हैं आज का ये अध्याय। कल हम फिर मिलेंगे 5 नए अलंकारों के साथ सरगम बुक पर। आशा करते हैं आपको इन दो दिनों के ये दो अध्याय पसंद आए होंगे। यदि आप हमें कुछ सुझाव देना चाहते हैं, या आपके पास हमारे लिए कोई प्रश्न है, तो आप हमें मेल कर सकते हैं titiksha@sargambook.com पर।